SEO in Hindi – 2022 – SEO कैसे करें?

नमस्कार और स्वागत है एक और लेख में आज हम बात करेंगे मतलब सीखेंगे की SEO क्या है/SEO in Hindi और इसे कैसे करते है? इसका जरूरत आखिर मनुष्य को क्यों पड़ता है, हालांकि मेने इससे पहले भी इसके बारे में बात किआ है लेकिन वो English शब्द में उपलब्ध है अगर आपको वो पढ़ना है तो पढ़ सकते है।

आज के इस लेख में हैम यह पूरी तरीके से जानने की कोशिश करेंगे कि SEO आखिर क्या है और इसकी जरूरत हमे कहाँ और क्यों ओढता है।

नमस्कारदोस्तों मेरा नाम है Viswanath Dhinda और में एक पेशेवर ब्लॉगर हूँ, मेने अपना ब्लॉगिंग जीवन की शुरुवात 2014 से किआ था और आज तक मैं इसीके ऊपर ही निर्भर हूँ मेरा सारा खर्च इसीसे ही निकलता है।

मुझे उम्मीद है कि आप भी मेरे तरह इस काम मे महारत हाशिल करेंगे और अपने जीवन मे सफल होकर दिखाएंगे, तो चलिए दोस्तो बिना समय ब्यतीत किए SEO in Hindi के बारे में जानते है।

SEO क्या है?

SEO इंग्लिश शब्द में इसे “Search Engine optimization” कहा जाता है, अब यह नाम सुनकर कोई गाड़ी या किसी Motor का छबि अपने दिमाग मे बना मत लेना।

SEO in Hindi
SEO in Hindi

असल मे यह Google या किसी भी सर्च ब्राऊज़र केलिए एक शब्द है मतलब एक नाम है जिसको SEO कहते है, यह हर एक सर्च ब्राऊज़र जो इंटरनेट पर उपलब्ध है वो कानूनी हो या गैर कानूनी उन सबके लिए SEO एक तरीके से ही काम करता है।

यह असल मे Search ब्राउज़र की Crawlers को पहचान करने अथवा चीजों को परखने में मदद करता है, हालांकि SEO के बिना भी सर्च इंजन चेजों का पता लगा सकता है लेकिन उसके लिए बहुत समय लगता है और बहुत बार ऐसा भी होता है कि सर्च इंजन खुद बिचलित होकर किसी भी अच्छा website को खोज श्रेणी से हटा देता है।

अगर एक Website में SEO अछे से किआ गेय हो तो वो सदैव एक ही चीज को संकेत करते रहेगा और सर्च इंजन भी इस चीज को मानेगा और उसे जल्दी और जड़ लोगों तक पहुचने में मदद करेगा।

साधारण बहस में समझें तो SEO सिर्फ Website में मजूदा सामग्री के बारे में सर्च इंजन को संकेत देता है और सर्च इंजन इसके साहारे उसे समझता है, और इसका Website ranking से कोई लेना देना नही हित है।

आपका वेबसाइट को रैंकिंग मिलेगा या नही आपका सामग्री रैंकिंग के योग्य है या नही यह सर्च इंजन तय करेगा। “SEO in Hindi”

SEO कैसे करें?

SEO को पूरी तरह से सम्पूर्ण करने केलिए आपको कुछ चीजों की जरूरत है और में आपको यह पहले ही अवगत करना चाहता हूँ कि जो मेने इस लेख में बताया हुआ है अगर वो आप नही करते है या कुछ चीजों को छोड़ देते है, तो यह आपकी गलती होगी और इससे SEO में कमी आएगी।

तो आपसे निवेदन है कि हैम जो आपको बता रहे है आप उन उपदेशों का पालन करें, तो चलिए जानते है कि SEO कैसे किआ जाता है और आपको क्या करना है।

पहला चरण, SEO IN HINDI

SEO को पूरा करने केलिए बहुत सारे चीजों की जरूरत होती है जिनमे से एक है Hosting मतलब Server यह SEO का पहला चरण है जिसमे server एक जरुरी हिस्सा है।

अगर आपके पास अच्छा Web-server है तो आप निश्चिन्त रहे सकते है क्योंकि एक उत्तम server आपके वेबसाइट का SEO को सहज बना देता है।

एक उत्तम server वेबसाइट का संचालन को और जड़ प्रसंसनीय बनाता है साथ ही लोग इसे उपयोग करने में ज्यादा इछुक भी रहते है। “SEO in Hindi”

अगर आपकी वेबसाइट औरों से तेज खोलता है तो आपको Google या कोई और सर्च इंजन आपको ज्यादा पसंद करेंगे और उससे आपका वेबसाइट सबसे ऊपर रैंक करेगा।

इसलिए Hosting यानी के Server SEO में एक अहम भूमिका निभाता है। और आपको भी एक अच्छा होस्टिंग लेना चाहिए कली भी सस्ता या कम दाम वाला सामग्री आपको समस्या में डाल सकता है।

Grab your Best Web Hosting 1

Platform/मंच

एक सही मंच आपको अलग से फ़ायदा देते है जैसे ब्लॉगर और WordPress, इन दोनों के बीच काफी ज्यादा अंतर है और यह दोनों ही मंच को सबसे ज्यादा इस्तेमाल भी किआ जाता है।

लेकिन समस्या यह है कि ककी भी मुफ़्ती चीज आपको उतना ज्यादा चीजें प्रदान नही कर सकता जो आपको एक भुगतान किए गए मंच प्रदान कर सकता है।

लेकिन हमारे भारत मे सभी लोग मुफ्त में मिलने वाला सामग्री को जड़ पसंद करते है, क्योंकि यह उनको बचपन से ही सिखाया जाता है कि कैसे पैसा कम खर्च करके ज्यादा लाभ उठाया जा सके।

SEO in Hindi
SEO in Hindi

और लोग जैसे जैसे बड़े होते हैतो यह चीज उनके दिमाग मे एक घर कर लेता है कि हमे पैसा खर्च नही करना है अगर चीजें मुफ्त में मिल जाये तो इससे अछि बात और क्या हो सकता है।

लेकिन ऐसे मनोकामना रखने वाले ब्यक्ति कभी भी जीवन मे सफलता हाशिल नही कर सकते है, ऐसे में हजारों Videos जो YouTube पर उपलब्ध है उनमें भी यह बताया जाता है कि Blogger और WordPress में ज्यादा अंतर नही है वेबसाइट रैंकिंग दोनों जगह ओर करता है।

लेकिन यह सचाई नही है, Blogger या इसके जैसे अन्य मंच जो मुफ्त में सेवा उपलब्ध कराते है वो सिर्फ और सिर्फ सीखने केलिए होते है, और यह Bloger खुद कहता है कि अगर आपको सीखना है तो हम आपके लिए मुफ्त में भी उओलध है।

लेकिन लोग नही समझते है सिर्फ एक Theme का Install से वेबसाइट या उसकी SEO सम्पूर्ण नही हो जाता, इसके लिए आपको मेहनत और लागत दोनों ही करना होगा। “SEO in Hindi”

अगर आपको अपने वेबसाइट में SEO को सही करना है तो आपको एक अच्छा और उत्तम मंच का सहारा लेना हीग जो कि WordPress है या इसके जैसे कई और मंच। सभी का link मेने नीचे दिए हुए है।

  • Wix
  • Big commerce
  • Joomla
  • Drupal
  • Avantecart
  • Hub Spot
  • Shopify
  • Ghost
  • Magneto

अच्छा Theme का उपयोग करना।

क्या आपको पता है कि लोगों के पास पैसों की कमी क्यों है? क्योंकि वो निबेश करने से डरते है मतलब ऐसे जगह पर निबेश करने से डरते है जहां से उनको तुरंत फायदा नजर नही आता।

अतः लोग अपना सारा पैसा बेकार के कार्य मे खर्च कर देते है, इस बात को जानने केलिए मेने भी 6 लोगों को Hosting खरीदने केलिए धन प्रदान किए, और 2 दिन बाद 4 लोगों ने मुझ से फिर से धन की याचना की।

क्यों कि वो पैसे उन्होंने अपने प्रेमिका के ऊपर खर्च कर दिए थे, प्रेमिका के ऊपर खर्च करने केलिए लोग पीछे नही हटते है क्योंकि उनको पता है इसके बदले कुछ वापस भी मिलने वाला है और वो क्या मुझे जरूरत नही है।

लेकिन अगर समय आता है अपने काम मे निबेश करने की तो इस समय लोगों को सिर्फ मुफ्त चीजें ही दिखाई देती है, लेकिन अगर आप SEO में महारत हाशिल करना चाहते है और अपने वेबसाइट को सबसे ऊपर ले जाना चाहते है तो आपको एक बेहतर Theme का उपयोग करना चाहिए।

अगर आपके पास उतना पैसा नही है जिससे आप Officially एक Theme को खरीद सके तो आप GPL Theme का भी इस्तेमाल कर सकते है, GPL Theme में आपको Licence नही मिलेगा लेकिन वो उसी तरह से काम करेंगे जैसे एक प्रीमियम Theme काम करता है।

“यह तो था कुछ चीजें जो आपको वेबसाइट बनाने से पहले आपको जरूरत पड़ती है लेकिन अब बात करते है कि SEO कैसे करना शुरू करें”

SEO की शुरुवात। SEO in Hindi

SEO की शुरुवात आर्टिकल की लिखने से शुरू होती है और इसीके अंदर ही सारे चीजें मजूदहै, तो चलिए जानते है कैसे आपको अपने आर्टिकल को लिखना चाहिए वो भी पूरे SEO के साथ।

  • सबसे पहले आपको अपने लेख में Heading/शिर्षक लिखना है, लेकिन ध्यान रहें कि आप जो शिर्षक लिख रहे है उसके अंदर आपने एक संख्या एक पावर शब्द और आपके आर्टिकल का नाम भी होना चाहिए।
  • बिना इनके SEO अधूरा है, अगर आपको अभी भी समझ मे नही आया तो आप हमारे ही लेख का शिर्षक देख सकते है।
SEO in Hindi
SEO in Hindi
  • शिर्षक के बाद आता है आपके आर्टिकल का पैराग्राफ, कोशिश करें कि आपका हर पैराग्राफ चोट रहे।
  • अगर पैराग्राफ बाद हीग तो यह लोगों को समझने में तकलीफ होगा और Google को भी समझने में तकलीफ होगी कि आपने लिखा क्या है, इसलिए पैराग्राफ छोटी रखनी है।
  • इसके बाद आपको अपने आर्टिकल में कुछ Link को जोड़ना है, जैसे अगर आपके आर्टिकल के अंदर कोई ऐसा शब्द है जिसके बारे में ज्यादातर लोगों पता नही है तो आप उस शब्द को उसके सही जानकारी के साथ जोड़ें, अगर आपके पास ऐसा कोई लिंक नही है तो आप खुद उसके बारे में आर्टिकल लिख सकते है और उसको अपने इस आर्टिकल के साथ जोड़ सकते है।
  • Link को जोड़ने के बाद आपको कुछ छबिबनानी होगी लेकिन ध्यान रहे कि आपके शब्दों के संख्या के साथ आपका छबि की संख्या भी बराबर होनी चाहिए।
  • अब इसे पता करने केलिए आप Content Ai का इस्तेमाल कर सकते है, हालांकि यह इतना जरूरी नही है और Content Ai भी सीमित है, लेकिन आपको शुरुवात में थिंदा समस्या होगी बाद में आपको सबकुछ समझ मे आने लगेगा।

Note: किसी भी चाबी को कॉपी न करें जो पहले से Google या किसी और Website में मजूद हो, ऐसे करने से आपके आर्टिकल का अधिकार संख्या कम हो जाता है। “SEO in Hindi”

छबि आपके आर्टिकल के बारे में सब कुछ बोल सकते है एक छबि से ही आप उसके बारे में पूरी जानकारी निकालसकते है, इसलिए आपको छबि को अछे से बनाना चाहिए, और इसकेलिए आप Canva.com जैसे मुफ्त वेबसाइट का उपयोग कर सकते है।

  • इसके बाद आपको अपने आर्टिकल में डिस्क्रिप्शन को लिखना है यह डिस्क्रिप्शन यह संकेत करते है कि आपका आर्टिकल की बारे में है, और Google के Bots भी इसी चीज को देख कर आपके आर्टिकल का श्रेणी निर्धारित करते है, तो एक अच्छा डिस्क्रिप्शन लिखना SEO को एक कदम और आगे ले जाता है।
  • इसके बाद आपको अपने आर्टिकल से जुड़े कुछ Tags भी लिखना है, यह Tag आप अपने आर्टिकल के मुख्य शब्द से जुड़े हुए शब्दों को लिख सकते है, इससे आपके आर्टिकल का SEO और पक्का हो जाएगा।
  • अब आप अपने वेबसाइट में कुछ श्रेणी बनानी होगी जिसे इंग्लिश में Category बोलै जाता है, यह Category ही आपके लेख का एक और चरण है जिससे आपका लेख किसी निर्दिष्ट शब्द को Point करता है।
  • बस अगर आप यह सभी चीजों को सही तरीके से अनुसरण करते है तो आपका वेबसाइट का SEO में कोई कमी नही आएगी।

SEO का क्या मतलब होता है?

सरल भाषा मे कहें तो SEO (Search engine optimization) यही है इसका Full form या मतलब जो किसी भी सर्च इंजन केलिए एक संदेश ब्यबस्था है।

सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन कैसे करें?

इसके बारे में मैने आपको पहले भी बताया हुआ है ईश लेख के उपदेशों का पालन करें। “SEO in Hindi

SEO प्रक्रिया की मुख्य अवस्थायें क्या हैं टेक्निकल SEO की ऑन साइट तथा ऑफ साइट समझाइये?

असल मे अब ऑन साइट तथा ऑफ साइट SEO जैसा कुछ भी नही है, यह सिर्फ एक तथ्य है जिनको उन लोगों ने बनाया है जो लोग लोगों को गुमराह करना चाहते है।

क्योंकी इससे उनका Course की बिक्री होती है और उससे वो पैसा कमाते है, आज के समय मे ऐसे कई लोग है जिनको वेबसाइट बनाना भी सही से नही आता है और ना ही उनका वेबसाइट गूगल में रैंक करती है, लेकिन उनका ज्ञान का सागर बिशाल है परंतु किसी काम का नही है।

अच्छा रहेगा कि आप इनके चक्र में न पड़ें और अपना काम ले प्रति ध्यान दें। “SEO in Hindi

क्या SEO हमेशा बदलता रहता है?

जी हां SEO कभी भी स्थाई नही हो सकता यह हमेशा बदलता रहता है लेकिन उतनी तेजी से नही, आपको डरने की अबस्यकता नही है।

आप एक बार जिस काम को करने लगेंगे उसके बारे में आपको खुद ही सब कुछ समझ मे आने लगेगा, SEO में जब कभी बदलाव आता है टॉपको यह सूचित भी किआ जाता है।

सबसे बेस्ट SEO strategy क्या है?

सबसे बेस्ट SEO strategy मेने आपको इसी लेख में विस्तार से बताया हुआ है कृपया उसे ध्यान पूर्वक अनुसरण कीजिए।

Where do I see SEO tutorials for beginners in Hindi?

वेसे तो बहुत सारे मंच है कुछ को भुगतानकरके भी सिख सकते है और कुछ बिल्कुल मुफ्त में उपलब्ध है, लेकिन सबसे अच्छा तरीका है कि SEO सीखने केलिए आपKओ पैसा नही खर्च करना है, इसे आप मुफ्त में सीखें।

सबसे अच्छा तरीका यह लेख है जिससे आप सिख सकते है या आप खुद से काम करके भी धीरे धीरे सीखना सुरु करें।

निष्कर्ष:

“SEO in Hindi” कैसे करें यह एक ऐसा प्रश्न है जिसका जबाब देना बहुत मुश्किल है, लेकिन जैसे कि मेने आपको इस लेख में बताया है अगर आप उसे अनुसरण करते है तो बाकी चीजें आपको खुद ही समझ मे आजायेगा।

फिर भी अगर आपको लगता है कि हमने कोई ऐसा प्रश्न के बारे में लिखना छोड़ दिया है तो आप हमें बात सकते है या आपके मन मे कोई सवाल हो तो भी आप हमें इसके बारे में पूछ सकते है। हैम मिलते है एक और लेख में तब तक केलिए हैम प्रस्थान करते है।

Leave a Comment